अभी भी ऐसे कंसल्टेंट्स की कोई कमी नहीं है, जो अपने फायदे के लिए स्टूडेंट्स के हितों से खिलवाड़ करने से नहीं चूक रहे हैं और स्टूडेंट्स के पैरेंट्स को भी वे बेवकूफ बनाने में लगे हुए हैं। कई स्टूडेंट्स एवं उनके पैरेंट्स से हमें यह जानकारी मिली है कि कुछ कंसल्टेंट्स ने चीन की गुलिन यूनिवर्सिटी में एडमिशन करवा दिया है। कंसल्टेंट्स ने उन्हें यह बताया है कि मार्च में उनका सेशन शुरू हो जाएगा।

mbbs in china

गजट में साफ लिखी है यह बात

हम आपको यह बता देना चाहते हैं कि 18 नवंबर, 2021 को जो नेशनल मेडिकल कमिशन (NMC) का नया गजट नोटिफिकेशन आया है, उसमें यह बात स्पष्ट रूप से लिखी हुई है कि आपकी पढ़ाई का माध्यम इंग्लिश मीडियम ही होना चाहिए। चीन ही एक ऐसा देश है, जो कि हर साल एक लिस्ट जारी करता है, जिसमें कि ऐसी यूनिवर्सिटीज के नाम होते हैं। उन यूनिवर्सिटीज में मौजूद सीटों की संख्या होती है, जितनी पर कि वे विदेशी स्टूडेंट्स का एडमिशन अपने यहां ले सकते हैं। चीन ने जो स्वीकृति दी हुई यानी कि अप्रूव्ड जिन 45 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट जारी की है, उसमें गुलिन यूनिवर्सिटी का नाम नहीं है।

अपने फैसले पर करें फिर से विचार

यदि गुलिन यूनिवर्सिटी में आपने एडमिशन ले लिया है, तो ऐसे में हमारी आपको यही राय होगी कि आप अपने इस फैसले पर फिर से विचार करें। यदि आपको यह नहीं मालूम कि 45 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट कौन-सी है, जिसे कि चीन की मिनिस्ट्री की तरफ से जारी किया गया है, तो आप हमारी वेबसाइट www.jagvimal.com पर जाकर इसे देख सकते हैं।।यहां पर यह सारी लिस्ट आपको मिल जाएगी। पिछले साल की फीस के हिसाब से यह लिस्ट बनी हुई है। संभव है कि कुछ यूनिवर्सिटीज की फीस में कुछ बदलाव हुए हों और उसे हम अब तक न बदल पाए हों, मगर फिर भी आपको काफी हद तक वहां से जानकारी मिल जाएगी। हमारी वेबसाइट पर लगभग सभी यूनिवर्सिटीज की लिस्ट मौजूद है। किसी यूनिवर्सिटी का जिक्र यदि वहां पर नहीं है, तो उसे भी हम जरूर आगे वहां मेंशन करने वाले हैं।

लिस्ट में शामिल नहीं हैं ये यूनिवर्सिटीज

इस बीच हम आपको बता दें कि चीन में मौजूद Guilin University, Taishan University, Jiamusi University, Nanchou University, Weifang University और Quqihar University चीन की मिनिस्ट्री की तरफ से जारी की गई 45 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट में मौजूद नहीं हैं। यदि आपने वर्ष 2021 या इससे पहले इनमें एडमिशन लिया है, तो इसमें आपको परेशान होने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है। जो गजट नोटिफिकेशन लागू हुआ है, उससे पहले यदि आपने एडमिशन लिया है, तो आपको कोई दिक्कत नहीं होने वाली है, लेकिन गजट के लागू हो जाने के बाद यदि आप दिसंबर, 2021 सेशन में या फिर जनवरी, फरवरी, मार्च 2022 या किसी भी सेशन में एडमिशन ले रहे हैं और आपकी राष्ट्रीयता भारतीय है, तो आप यह मानकर चलें कि आपकी यहां की डिग्री अवैध हो जाएगी। उसे वैलिड नहीं माना जाएगा।

कंसलटेंट से करें यह सवाल

इसलिए हमारी आपको यही सलाह है कि यदि आपने एडमिशन ले लिया है, तो आप अपने कंसलटेंट से संपर्क कीजिए और उनसे यह सवाल कीजिए कि क्या यह यूनिवर्सिटी उन 45 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट में आती है या नहीं। हर साल चीन की मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन की तरफ से जो लिस्ट जारी की जाती है, वर्ष 2022 की भी लिस्ट अब आ जानी चाहिए। यह जैसे ही आती है, अपनी वेबसाइट पर हम इसे जरूर अपडेट कर देंगे। आप वहां पर फीस स्ट्रक्चर भी चेक कर सकते हैं। वेबसाइट पर आपको लगभग सभी यूनिवर्सिटीज के फीस स्ट्रक्चर की जानकारी मिल जाएगी। इनमें जो यूनिवर्सिटी की फीस होती है, या फिर वहां हॉस्टल की जो फीस होती है, इनमें किसी भी तरह का कोई हेराफेरी नहीं की जा सकती है। फिर भी कई कंसल्टेंट्स ऐसे हैं, जो कई तरह की फीस के नाम पर ज्यादा फीस ले लेते हैं।

इसका भी रखें ध्यान

हालांकि चीन की यूनिवर्सिटी में जब आप फीस का भुगतान करते हैं, तो पूरी फीस का भुगतान सीधे यूनिवर्सिटी में ही होता है। किसी थर्ड पार्टी के माध्यम से वहां ऐसा नहीं होता है। इसलिए यदि आप चीन की यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले रहे हैं, तो आप इस बात का ध्यान रखें कि इन 45 यूनिवर्सिटी के अलावा और किसी भी यूनिवर्सिटी में वहां एडमिशन लेने की भूल न करें, क्योंकि मिनिस्ट्री की तरफ से वहां यह स्पष्ट कर दिया गया है कि इन 45 यूनिवर्सिटीज में ही इंग्लिश मीडियम में पढ़ाई होती है और बाकी जितनी मेडिकल यूनिवर्सिटीज हैं, उनमें केवल चाइनीज लैंग्वेज में ही मेडिकल की पढ़ाई होती है। यह जानकारी आपको कैसी लगी, इसके बारे में आप हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। किसी भी तरह की शंका यदि आपके मन में हो, तो वह भी आप कमेंट सेक्शन में या चैट बॉक्स में आकर हमसे शेयर कर सकते हैं। आपकी मदद करके हमें हमेशा खुशी का ही अनुभव होता है।

YouTube

Already have an account? Log in