10 से 15 लाख में पास करा रहे FMGE? यूं बर्बाद हो सकते हैं आप

FMGE का आयोजन 4 जून, 2022 को होने वाला है। जो स्टूडेंट्स इसमें हिस्सा लेने जा रहे हैं, उन्हें अब कई तरह के ऑफर्स मिलने शुरू हो जाएंगे। बहुत से स्टूडेंट्स ऐसे हैं, जो अपनी मेहनत और अपने प्रयास के दम पर कामयाब होना चाहते हैं। वहीं, कई स्टूडेंट्स ऐसे भी हैं, जिन्होंने कई प्रयास किए हैं, लेकिन अब तक उन्हें सफलता नहीं मिल पाई है। उनमें अब हौंसला नहीं रह गया है। उनकी हिम्मत अब जवाब दे चुकी है। ऐसे में अब वे अन्य विकल्पों की तलाश में हैं। जो लोग इस तरह के विकल्प ढूंढते हैं, उन्हें भी ढूंढने वाले कुछ लोग उन्हें मिल ही जाते हैं। ये लोग क्या करते हैं और किस तरह से करते हैं, ये सारी चीजें हम आपको इस ब्लॉग में बताने जा रहे हैं।

fmge exam

जुगाड़ वाला तरीका

यदि आप अपने 9 महीने का वक्त बचाना चाहते हैं और आप अपने 10 से 15 लाख रुपये भी बचाना चाहते हैं, तो आप इस ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़िएगा। ऐसे स्टूडेंट्स, जो हताश हो चुके हैं, वे शॉर्टकट ढूंढने लगते हैं। इसे हम जुगाड़ भी कह सकते हैं। वे यह देखने लगते हैं कि MCI या FMGE पास करने का कोई जुगाड़ है या नहीं। ये जुगाड़ आखिर किस तरीके से काम करते हैं, यह गिरोह किस तरीके से काम करता है, इनके काम करने के तरीके कौन से होते हैं, आप किस तरीके से इसमें फंस जाते हैं, ये सारी चीजें इस ब्लॉग में आप विस्तार से पढ़ने जा रहे हैं।

इन्हें देखकर पूछता है आपका दिमाग

कई बार आप यह देखते हैं कि आपके जो क्लासमेट्स रहे थे या फिर आपके जो सीनियर्स थे या आपके जो जूनियर्स थे और जहां वे विदेश में पढ़ाई कर रहे थे, वहां पढ़ाई करने के दौरान वे हमेशा क्लासेज बंक करते थे। एक बार में उनका अपने सब्जेक्ट्स में पास होना भी मुश्किल होता था। कुल मिलाकर यह कह सकते हैं कि किसी तरह से लटक लटक कर उन्होंने वहां से अपनी पढ़ाई पूरी की, लेकिन भारत लौटने पर पहले या दूसरे ही प्रयास में वे पास हो गए। ऐसे में आपके दिमाग में यह सवाल आता है कि ये लोग जो पास होने के काबिल भी नहीं थे, आखिर किस तरह से वे इतनी आसानी से पास हो गए। तब आपको बताया जाता है कि FMGE पास करने का जुगाड़ चलता है। इसके लिए आपको 10 से 15 लाख रुपये देने पड़ते हैं।

जुगाड़ का चक्कर

ऐसा करने वाले आपको बताते हैं कि आपको शुरुआत में 2 लाख से 5 लाख रुपये का कोई भी कैश अमाउंट उन्हें देना पड़ेगा और साथ में आपको अपनी 10वीं व 12वीं के साथ जितने भी डिग्री सर्टिफिकेट्स हैं, इन सभी की ओरिजिनल कॉपी देनी पड़ेगी। साथ ही जो बचा हुआ अमाउंट है यानी कि यदि आपकी डील उनके साथ 15 लाख रुपये में हुई है और आपने 3 लाख रुपये दिए हैं, तो बचे हुए 13 लाख के लिए वे आपसे ब्लैंक चेक साइन करवा कर ले लेते हैं और आपसे कहते हैं कि रिजल्ट आने के बाद यह चेक वे आपसे क्लियर करवा लेंगे। उन्हें पैसे दे देने के बाद आप इस बात को लेकर पूरी तरह से निश्चिंत हो जाते हैं कि आपने FMGE का जुगाड़ कर लिया है और आप इसमें पास हो ही जाएंगे।

जुगाड़ की आड़ में

हालांकि आपको यह जान लेना चाहिए कि इस तरह का कोई भी जुगाड़ उपलब्ध नहीं होता है। ये वास्तव में क्या करते हैं कि आप जैसे 15 से 20 स्टूडेंट्स को पकड़ लेते हैं। यदि ये सभी भी इन्हें 2-2 लाख रुपये कैश अमाउंट दे देते हैं तो इनके पास आराम से 40 लाख रुपए हो जाते हैं। साथ ही ये 12 से लेकर 15 लाख तक के जितने भी अमाउंट में डील की है, उसके ब्लैंक चेक भी अपने हाथ में ले लेते हैं। अब आप एग्जाम देने के लिए जाते हैं। आप एग्जाम लिखते हैं। ज्यादातर हमने यह देखा है कि एग्जाम सेंटर के बाहर जब हम स्टूडेंट्स से पूछते हैं कि आपका एग्जाम कैसा रहा है, तो वे पूरी तरह से ब्लैंक होते हैं। उनके लिए इस बात का जवाब देना बहुत ही मुश्किल होता है कि उन्होंने एग्जाम में कैसा लिखा है। उन्हें मालूम नहीं होता कि उनका रिजल्ट कैसा आएगा, क्योंकि यहां नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान नहीं होता है। बहुत सारे सवाल जो पूछे गए थे, उन्हें याद करना भी आपके लिए आसान नहीं होता। आपको नहीं मालूम होता कि आपने किसका जवाब सही और किसका गलत दिया है। इसका क्वेश्चन पेपर कहीं नहीं आने की वजह से आपके लिए यह मैच करना भी संभव नहीं होता कि आपने कितना सही किया है और कितना गलत। इस वजह से आप इस उधेड़बुन में रहते हैं कि आप पास हो पाएंगे या नहीं।

उधेड़बुन में होने का उठाते हैं फायदा

इसी चीज का फायदा ऐसे लोग उठा लेते हैं। एग्जामिनेशन सेंटर के बाहर कई बार हमारी मुलाकात ऐसे स्टूडेंट्स से हुई है, जिन्होंने कि रिजल्ट आने के बाद 180 से 190 तक स्कोर किया है, लेकिन एग्जाम वाले दिन एग्जाम देकर निकलने के बाद ये पूरी तरीके से हताश नजर आ रहे थे। ये रो रहे थे कि हमारा एग्जाम अच्छा नहीं हुआ है। किसी का पहला एग्जाम अच्छा नहीं होता था, तो किसी का दूसरा एग्जाम सही नहीं जाता था। तो इस तरह से यह मिलाजुला रहता था। जो स्टूडेंट्स FMGE एग्जाम में पास होते हैं, उनमें से ज्यादातर स्टूडेंट्स इस बात को लेकर पहले से कॉन्फिडेंट नहीं होते कि वे पास हो जाएंगे। यह कहा जा सकता है कि 10 से 15 परसेंट स्टूडेंट्स ही ऐसे होते हैं, जिन्हें इस बात का पूरा भरोसा होता है कि वे FMGE एग्जाम में पास होने जा रहे हैं। वहीं, जो बाकी स्टूडेंट्स होते हैं, वे इस बात को लेकर पहले से श्योर नहीं होते कि FMGE में उन्हें सफलता मिल ही जाएगी। इसी तरह के हालात का फायदा ये बेवकूफ बनाने वाले लोग उठा लेते हैं। जिन 20 स्टूडेंट्स के साथ उनकी डील हुई है, उनमें से तीन से चार स्टूडेंट्स अपने आप पास हो जाते हैं। जो स्टूडेंट्स पास हो जाते हैं, उनके पैसे ये अपने पास रख लेते हैं और जो फेल हो जाते हैं, उनके डॉक्युमेंट्स ये उन्हें लौटा देते हैं।

9 महीने का नुकसान

इस तरह से जो स्टूडेंट्स पास हुए हैं, वे अपनी मेहनत से पास हुए हैं। पास होने के लिए उन्होंने कोई जुगाड़ नहीं किया है, लेकिन इस चीज का फायदा उन लोगों ने तो उठा लिया, मगर इसकी वजह से कितना बड़ा नुकसान आपको हो सकता है, यह हम आपको अब बताते हैं। यदि आप अपनी मेहनत और अपनी मर्जी से इस एग्जाम में पास हुए हैं, तो आपके 10 से 15 लाख रुपये तो डूब ही गए और यदि आप पास नहीं हुए और यह होना ही नहीं है, क्योंकि वहां कोई जुगाड़ काम नहीं करता, तो आपके 9 महीने खराब हो गए। ये 9 महीने कैसे खराब हुए, यह हम आपको बताते हैं। समझिए कि आज 17 मार्च है और 4 जून 2022 को आपका एग्जाम है। अब जिस जुगाड़ करने वाले से आपने बात की आपने उसे पैसे दे दिए और आप निश्चिंत होकर बैठ गए कि अब आप एग्जाम में पास हो ही जाएंगे। तीन महीने आपने अपनी पढ़ाई छोड़ दी। उसे केवल एक झूठ बोलना पड़ा। आपके तीन महीने चले गए। 4 जून को आपका एग्जाम हुआ। फिर 30 जून को रिजल्ट आया। दुर्भाग्य से आप इसमें फेल हो गए। इसलिए कि आपने तैयारी नहीं की थी। जब 30 जून को रिजल्ट आ जाता है, तो सामने वाला आपको डाक्यूमेंट्स लौटा देता है। इस तरह से अब आपको तैयारी करनी है अगले एग्जाम के लिए, जो कि दिसंबर में होगा। इस तरह से आपके 9 महीने हो गए। तीन महीने ये वाले और आने वाले 6 महीने।

सिर्फ मेहनत ही दिलाएगी कामयाबी

इसलिए आप सभी स्टूडेंट्स से हम यही कहना चाहेंगे कि यदि आप किसी तरह का जुगाड़ ढूंढ रहे हैं, तो आप उसे ढूंढना बिल्कुल बंद कर दीजिए और ये जो 3 महीने आपके पास अभी बचे हुए हैं, इसमें आप जमकर मेहनत कीजिए। यही एकमात्र शॉर्टकट है आपको FMGE पास कराने का। हम आपको एक और उदाहरण यहां दे रहे हैं। एक परिवार में बड़ी बेटी ने FMGE एग्जाम देने के लिए कोचिंग ज्वाइन कर ली। वहीं छोटा भाई, जिसने भी ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया, वह भी FMGE एग्जाम देने जा रहा था। बड़ी बहन ने पहले अटेंप्ट को छोड़ दिया और दूसरे एग्जाम में वह एपियर हुई। छोटे भाई ने हमारे कहने पर फॉर्म भर दिया था और उसने भी एग्जाम दिया। जब रिजल्ट आया तो बड़ी बहन, जिसने कि इतनी अच्छी तैयारी की थी, उसे 130 या 135 अंक ही मिले और वह फेल हो गई, जबकि छोटा भाई, जिसने ज्यादा मेहनत नहीं की थी और थोड़ी ही तैयारी की थी, वह पास हो गया। उसे 150 अंक मिले थे। दोनों के पैरेंट्स यह समझ नहीं पा रहे थे कि उन्हें खुश होना चाहिए या दुखी। बड़ी बहन ने इतनी मेहनत की, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली, जबकि छोटे भाई को थोड़ी ही तैयारी में कामयाबी मिल गई थी। इस तरह से कई बार इसमें लक भी काम करता है।

FMGE में जरूर हों एपियर

इसलिए यह मैटर नहीं करता है कि आपने 1 साल तैयारी की है या 2 साल की है या 3 साल की है। मैटर यह करता है कि आपने कितने सब्जेक्ट्स पढ़े हैं और कितनी अच्छी तरह से आपने इन्हें पढ़ा है। इसलिए जो भी स्टूडेंट्स जून में होने वाले FMGE का एग्जाम देने के लिए एलिजिबल हैं, चाहे वे विदेश में ही क्यों न हों और उन्हें 50 हजार रुपये खर्च करके भी एग्जाम देने के लिए क्यों न आना पड़े, वे फॉर्म जरूर भरें और एग्जाम देने के लिए यहां आएं। यदि आप फेल भी होते हैं तो फिर भी आपको यह आईडिया मिलेगा कि किस तरह का पैटर्न एग्जाम में पूछा जा रहा है। आपको बता दें कि इसका पैटर्न हर 2 से 3 साल में बदलता रहता है। कुछ स्टूडेंट्स लकी भी होते हैं कि उनके 148 से 149 मार्क्स आते हैं। पिछले जो दो FMGE के एग्जाम हुए हैं, उनमें से दिसंबर में हुए एग्जाम में कोई बोनस मार्क्स नहीं मिला था, लेकिन उससे पहले जुलाई में जो एग्जाम हुआ था, उसमें एक बोनस अंक मिला था। उससे पहले जो एग्जाम हुआ था, उसमें 2 बोनस मार्क्स मिले थे। तो इस तरह से कई स्टूडेंट्स इस बोनस मार्क्स की वजह से भी पास हो सकते हैं।

न हों ठगी का शिकार

इसलिए आप सभी से एक बार फिर से हमारी यही गुजारिश है कि आप इस तरह के जुगाड़ से पास कराने वाले किसी भी गिरोह का शिकार मत बनिए। आप चाहे कितने भी डाक्यूमेंट्स दे दीजिए, जितने भी पैसे दे दीजिए, आप इससे पास नहीं होने वालेम अंत में आप सिर्फ अपनी मेहनत से ही पास हो पाएंगे। इसलिए आप अपनी मेहनत के पैसे और अपने मूल्यवान समय को बर्बाद न करें। फिर भी यदि आप एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं, तो आप यह करके देख सकते हैं और जो 9 महीने या जो भी टाइम बर्बाद होगा, वह आपका होगा और जो पैसे बर्बाद होंगे, सो अलग। जो आपसे पैसे ले रहे हैं, उनका कुछ भी नहीं बिगड़ेगा। उन्हें बस झूठी हां करनी होती है। जैसा कि इस इंडस्ट्री में बहुत से लोग करते आए हैं। एडमिशन के दौरान भी और एडमिशन के बाद भी।

इन सबके अलावा भी यदि आपके मन में किसी भी तरह की कोई शंका है या आप कोई अन्य जानकारी चाहते हैं, तो आप हमसे हमारे व्हाट्सएप नंबर 9772378888 पर भी चैट कर सकते हैं। इंस्टाग्राम पर आप हमें फॉलो कर सकते हैं। हमारे यूट्यूब चैनल को आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। हम आपके लिए और भी उपयोगी जानकारी यूं ही लेकर आते रहेंगे। आपकी मदद करके हमें हमेशा खुशी का ही अनुभव होता है।

YouTube

Already have an account? Log in